Category Archives: ● सिर्फ 18+ के लिए.

महिलाएं चाहती हैं, आप जानें सेक्‍स के ये 12 राज…अमरेश सौरभ की रिपोर्ट

msid-53153128width-400resizemode-4orgams

महिलाएं चाहती हैं, आप जानें सेक्‍स के ये 12 राज…

अमरेश सौरभ की रिपोर्ट:सेक्‍स संबंध बनाते वक्‍त महिलाएं किसी पुरुष से क्‍या चाहती हैं, यह हमेशा से ही शोध का विषय रहा है. इस पर पहले भी काफी कुछ लिखा जा चुका है. इसी मुद्दे पर ताजातरीन रिसर्च के नतीजे सामने आए हैं. सेक्‍स से जुड़े विषय के एक्‍सपर्ट्स के अलावा 700 से ज्‍यादा महिलाओं ने खुलकर अपने विचार व्‍यक्‍त किए हैं. महिलाएं बिस्‍तर पर क्‍या चाहती हैं मर्द से, जानिए वो 12 राज…

  1. सिर्फ कामक्रीड़ा पर ही हो पूरा ध्यान.
    बिस्‍तर पर महिला पार्टनर की यौन-इच्‍छा को तृप्‍त करने के लिए सबसे जरूरी चीज है- ‘जज्‍बा’. सर्वे में शामिल करीब 42 फीसदी महिलाओं ने यह बात स्‍वीकार की है. महिलाएं कई तरीके से पुरुषों के प्‍यार को महसूस करती हैं, जिनमें सबसे ज्‍यादा इनका ध्‍यान खींचता है आपके मुंह से की गईं ‘शरारतें’. आंखों में आंखें डालकर प्‍यार जताना, होठों को संवेदनशील अंगों पर फिराना, किसी और तरीके से देह को छूना महिलाओं को भाता है. जीभ के अगले भाग से नाजुक अंगों का स्‍पर्श भी महिलाओं का मन मचलने के लिए काफी होता है.
  2. फोरप्ले की अहमियत सबसे ज्यादा.
    कामक्रीड़ा का असली मजा सिर्फ चरम तक पहुंचने पर ही नहीं है, बल्कि इसके हर पल का भरपूर आनंद लेना चाहिए. फोरप्‍ले भी इसका अहम पार्ट है, जिसका अपना मजा है. सर्वे में शामिल महिलाओं ने माना कि फोरप्‍ले के दौरान होने वाली उत्तेजना एकदम अलग तरह की होती है. महिलाओं ने कहा कि पुरुषों को सेक्‍स के मामले में थोड़ा ‘क्रिएटिव’ होना चाहिए. कुछ नया और एकदम अलग अंदाज में किया जाना महिलाओं को खूब भाता है.
  3. आनंदसंतुष्टिमें फर्क है
    किंसले इंस्टिट्यूट के शोध में यह पाया गया कि पुरुषों के साथ-साथ महिलाओं ने भी यह माना कि उन्‍हें कंडोम के बिना यौन संबंध ज्‍यादा अच्‍छा लगता है. पर महिलाओं ने यह भी माना कि दरअसल संभोग के दौरान कंडोम का इस्‍तेमाल किए जाने पर उन्‍हें ज्‍यादा सुकून मिलता है. यह सुकून ‘प्रोटेक्‍शन’ को लेकर होता है. सर्वे में शामिल महिलाओं ने कहा कि कंडोम यौन रोगों से बचाव का यह कारगर तरीका है. इसके इस्‍तेमाल से महिलाएं खुलकर सेक्‍स का भरपूर मजा ले पाती हैं.
  4. धीरेधीरे, आराम से.
    सभी महिलाएं यही चाहती हैं कि उसके बेहद कोमल अंगों को शुरुआती दौर में ज्‍यादा तकलीफ न दी जाए. महिलाएं पुरुषों से चाहती हैं कि वे उसके सेंसिटिव अंगों के साथ संवेदनशीलता से ही पेश आएं. मतलब यह कि संभोग के दौरान वे चाहे तो जीभ व उंगलियों का इस्‍तेमाल करके जरूरी उत्तेजना पैदा करें, पर कष्‍ट देने से बाज आएं.
  5. वातावरण का भी पड़ता है असर.
    शोध के दौरान 50 फीसदी महिलाओं ने स्‍वीकार किया कि संभोग के दौरान अनुकूल मौसम व वातावरण न होने की वजह से वे चरम तक न पहुंच सकीं. महिलाओं ने माना कि दरअसल पुरुषों के ठंडे पांव की वजह से उन्‍हें ज्‍यादा तकलीफ होती है. डॉ. होल्‍सटेज ने कहा कि सेक्‍स के दौरान वातावरण भी काफी मायने रखता है. अगर कमरे का तापमान अनुकूल रहता है, तो यह सेक्‍स का मजा बढ़ा देता है.
  6. सेक् के दौरान पोजिशन का भी रखें खयाल.
    सेक्‍स संबंध बनाने के दौरान पोजिशन का भी खयाल रखना बेहद जरूरी होता है. स्‍त्री के निचले भाग को अगर दो-तीन तकियों के सहारे थोड़ा-सा और ऊपर उठाकर संभोग किया जाए, तो इससे संसर्ग ठीक से हो पाता है. वह स्थिति भी बेहतर होती है, जब स्‍त्री लेटे हुए पुरुष के ऊपर आकर संभोग करती है. इससे स्त्रियां ‘उन’ अंगों में ज्‍यादा उत्तेजना महसूस करती हैं.
    एक और पोजिशन महिलाओं व पुरुषों को अच्‍छा लगता है, वह है ‘डॉगी स्‍टाइल’. मतलब, जिसमें स्‍त्री घुटनों और हाथों के बल खुद को संतुलित किए रहती है और पुरुष उसके ठीक पीछे जाकर संभोग करता है.
  7. तरीके तो और भी हैं.
    ऑस्‍ट्रेलियन सेक्‍स रिसर्चर जूलियट रिचटर्स कहती हैं कि सर्वे में शामिल पांच में से केवल एक महिला ने माना कि वे केवल एकदम नॉर्मल तरीके से किए गए संभोग से ही चरम तक पहुंच जाती हैं. ज्‍यादातर युवा महिलाओं का मानना था कि वे अपने पार्टनर से चाहती है कि वे सेक्‍स के दौरान अपने हाथ और मुंह का भी ज्‍यादा इस्‍तेमाल करें. उन्‍हें अपनी किताब के लिए 19 हजार लोगों पर किए गए सर्वे के दौरान इस तथ्‍य का पता चला. 90 फीसदी से ज्‍यादा महिलाओं ने माना कि वे केवल सेक्‍स के दौरान अपने पार्टनर द्वारा मुख का भी इस्‍तेमाल किए जाने के बाद चरम तक पहुंचती हैं. रिसर्च में पाया गया कि जब कामक्रीड़ा आरामदायक तरीके से, धीरे-धीरे, पर लगातार किया जाता है, तो जोड़े चरम तक जल्‍दी पहुंच जाते हैं.
  1. जल्दबाजी की, तो गएकामसे.
    सर्वे में शामिल महिलाओं में से केवल पचास फीसदी ने कहा कि वे 10 मिनट या इससे कम वक्‍त में ही चरम तक पहुंच जाती हैं. सेक्‍स मेडिसिन के एक जर्नल में प्रकाशित स्‍टडी के मुताबिक, सेक्‍स में जल्‍दबाजी दिखलाने पर पुरुष तो संतुष्‍ट हो जाते हैं, पर महिलाएं चरम तक नहीं पहुंच पाती हैं. ऐसे में पुरुषों की जिम्‍मेदारी होती है कि वे बिना हड़बड़ी दिखलाए अपनी पार्टनर को लंबे गेम में साथ लेकर चलें.
  2. संवेदनशील अन् अंगों को पहचानें.
    सेक्‍स पर शोध करने वालों ने पाया है कि केवल G-स्‍पॉट ही आनंद देने के लिए पर्याप्‍त नहीं है, बल्कि महिलाओं के शरीर में और भी ऐसे भाग हैं, जहां संवेदना ज्‍यादा होती है. इसमें A- स्‍पॉट भी शामिल है, जहां सहलाने से महिलाओं का शरीर यौन क्रिया के लिए शारीरिक रूप से तैयार हो पाता है. इस काम में उंगलियों की कारस्‍तानी काम आती है.
  3. तैयारी को ठीक से परखें.
    कोई स्‍त्री संभोग के लिए तैयार है या नहीं, यह परखने में भी कई बार भूल हो जाती है. कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी में लेक्‍चरर बरबरा कीसलिंग का मानना है कि सिर्फ बाहरी लक्षण से ही इसकी पहचान संभव नहीं है. इनकी नजर में ‘बटरफ्लाई पोजिशन’ सबसे ज्‍यादा बेहतर है.
  4. कीमततो अदा करनी ही पड़ती है.
    अगर महिला अपने थकाऊ काम या नींद की कमी की वजह से परेशान है, तो इसक स्थिति में वह मुश्किल से उत्तेजित होती है. ऐसे में पुरुषों की जिम्‍मेदारी बढ़ जाती है. पुरुषों को चाहिए कि वे व्‍यंजन पकाने या कपड़े धोने आदि काम में इनकी मदद करें. सर्वे में शामिल महिलाओं ने माना कि ऐसी स्थिति में जब पुरुष उनके काम में मदद करते हैं कि उन्‍हें बेहतर एहसास होता है.
  5. जरूरी नहीं कि हर बार चरम तक पहुंचा ही जाए.
    महिला हर बार चरम तक पहुंच ही जाए, यह कोई जरूरी नहीं है. कई बार तनाव व थकान की वजह से ऐसा नहीं हो पाता. ऐसे में जबरन आधे घंटे तक ‘खेल’ जारी रखने की बजाए इसे खत्‍म करना बेहतर रहता है. चरम तक न ले जाने के लिए हर बार पुरुष ही जिम्‍मेदार नहीं होता. फिर भी अगर महिला चाहे, तो आप अपने हाथों और उंगलियों से उसे संतुष्‍ट कर सकते हैं. कुल मिलाकर इस क्रीड़ा का आनंद ही मायने रखता है.

    🌎ब्रेकिंग न्यूज और अपडेट के लिए “चम्पारण न्यूज” फेसबुक पेज लाइक व ट्विटर हैंडल व instagram फॉलो करें, गूगल प्लस पर जुड़ें और “चम्पारण न्यूज” यूट्यूब चैनल Subscribe करें।


    🌎विज्ञापन:-“ब्रह्मर्षि ट्रक रेंटल सर्विस” बेतिया पश्चिमी चम्पारण बिहार, सभी प्रकार के ट्रक भाड़े पर लेने के लिए संपर्क करे अमित कुमार बेतिया  Call 09801952119 (सम्पर्क करने का समय सुबह 7.30 से शाम 7.30) 


Advertisements

कैसे करे ​सुरक्षित सेक्स….

 


कैसे करे सुरक्षित सेक्स….

नोट
:-अगर आप को यह लगता हो की यह  आलेख पढ़ने योग्य नहीं है तो कृपया न पढें…..

📝यदि आप चूमने एवं सहलाने से आगे बढ़ते हैं तो यह महत्वपूर्ण है की सेक्स सुरक्षित हो। यौन संचारित रोग एवं अनचाहे गर्भ से बचने के लिए हमेशा ही सुरक्षित सेक्स करना चाहिए।

यह सुरक्षित है: ✔सहलाना, जीभ का इस्तेमाल करते हुए चूमना, गले लगाना, मालिश या मसाज करना, स्वयं का या अपने साथी का हस्तमैथुन।

✔गुणवत्ता प्राप्त कण्डोम का इस्तेमाल करके संभोग (योनि में लिंग का प्रवेश)

✔संक्रमण से बचने के लिए गुणवत्ता प्राप्त कण्डोम एवं अनचाहे गर्भ से बचने के लिए किसी दूसरे प्रकार के गर्भनिरोधन जैसे गोलियों का प्रयोग करते हुए संभोग (योनि में लिंग का प्रवेश)

✔शुक्राणु या रक्त (उदाहरण के लिए माहवारी का रक्त) के मुख में गए बिना मुख मैथुनयह

यह असुरक्षित है:

○ कण्डोम एवं अन्य किसी गर्भनिरोधन जैसे गोलियों के बिना संभोग (योनि में लिंग का प्रवेश)

○कण्डोम के बिना गुदा मैथुन (गुदाद्वार में लिंग का प्रवेश)

○लड़कों के लिए कण्डोम के बिना मुख मैथुन और लड़कियों के लिए डेन्टल डैम (जिसे वैजाइनल डैम भी कहते हैं – योनि को ढकने के लिए लेटेक्स का एक चैकोर टुकड़ा) के बिना मुख मैथुन

○आपस में एक दूसरे के सेक्स के लिए खिलौने (सेक्स टॉय) को साफ़ किए बिना इस्तेमाल

सेक्स का सबसे सुरक्षित तरीका डबल डच है – यानी कण्डोम एवं किसी अन्य गर्भनिरोधन जैसे गोलियों का प्रयोग। कण्डोम यौन संचारित रोग से सुरक्षा प्रदान करता है। दूसरे प्रकार का गर्भनिरोधन, जैसे गोलियाँ, अनचाहे गर्भ से बचाती हैं क्योंकि कण्डोम 100 प्रतिशत प्रभावी नहीं होता ।

यदि मुख मैथुन के समय किसी के मुख में शुक्राणु या रक्त नहीं जाता है तो वे एचआईवी के जोखिम से बचे रहते हैं। पर उन्हें तब भी हरपीज़ जैसे अन्य यौन संचारित रोग हो सकते हैं।

रोचक जानकारी पहली बार सेक्स के दौरान क्यों होता है महिलाओं को दर्द

रोचक जानकारी पहली बार सेक्स के दौरान क्यों होता है महिलाओं को दर्द

20160917_100710

🌎“ब्रह्मर्षि ट्रक रेंटल सर्विस” बेतिया पश्चिमी चम्पारण बिहार, सभी प्रकार के ट्रक भाड़े पर लेने के लिए संपर्क करे अमित कुमार बेतिया  Call  09801952119 (सम्पर्क करने का समय सुबह 7.30 से शाम 7.30)

रोचक जानकारी पहली बार सेक्स के दौरान क्यों होता है महिलाओं को दर्द

भारतीय समाज में लडकी की परवरिश ऎसे माहौल में होती है कि उसके मन में संभोग को लेकर डर बैठा होता है। पहली बार संभोग से कई तरह के मिथ जुडे हुए हैं।लोगों का ऎसा मनोविज्ञान है कि पहले संभोग के समय में लडकियों को काफी दर्द होता है। इस दौरान ब्लीडिंग को लेकर भी अनेक तरह की भ्रांतियां हमारे समाज में मौजूद हैं। संभोग करने की स्थिति से भी दर्द का कुछ नाता है ऎसे कुछ भ्रम लोगों के मन में अक्सर रहते हैं। कैसे आप इस दर्द से निजात पाकर सेक्स संबंधों का आनंद ले सकते हैं और अपने रिश्तों को सामान्य बना सकते हैं।

संभोग के दौरान होने वाले दर्द को मेडिकल की भाषा में दाईस्पेरेनिया कहते हैं। यह ऎसा दर्द है जो एक बार होने पर बार-बार हो सकता है और इस दर्द का असर महिला-पुरूषों के रिश्ते पर बहुत बुरा पड़ता है। वास्तव में पहली बार संभोग के समय महिलाओं को होने वाले दर्द का मुख्य कारण योनि का बहुत ज्यादा टाइट होना है। ऎसा तब होता है जब योनि की मांसपेशियां खिंच जाती हैं और उनमें सूजन आ जाती है। ऎसी स्थिति में संभोग के समय महिला को बहुत अधिक दर्द होता है ऎसा उन महिलाओंयों के साथ होने की संभावना रहती है जो सेक्स संबंधों को बहुत बुरा मानती हैं और संभोग के समय पुरूष के साथ सहयोग नहीं करती।

इसका मनोवैज्ञानिक असर ये होता है कि संभोग के समय योनि की मांसपेशिया सिकुड़ जाती हैं और तेज दर्द होता है। योनि में किसी भी तरह का इंफेक्शन भी संभोग के समय दर्द का एक बहुत बडा कारण है। अक्सर योनि के आकार में परिवर्तन हो जाता है जिसे एंड्रियोमेट्रियोसिस कहते हैं।यदि आपको भी संभोग के दौरान दर्द होता है तो आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

संभोग के दौरान होने वाले दर्द का एक मनोवैज्ञानिक कारण भी है। लडकियों की परवरिश बचपन से ही इस तरह से की जाती है कि सेक्स को लेकर उनके मन में डर बैठ जाता है। वह सेक्स के नाम से ही घबराने लगती हैं और उन्हें अपनी किशोरावस्था और युवावस्था के दौरान यह भी सुनने को मिलता है कि पहली बार किया गया संभोग बहुत कष्टदायक होता है और इस दौरान खूब ब्लीडिंग भी होती है।

यदि आप चाहते हैं कि आपको संभोग के दौरान दर्द ना हो तो आपको कुछ सेक्स पोजीशंस का इस्तेमाल पहली बार संभोग के दौरान करना चाहिए और आपको अपने मन से संभोग में होने वाले दर्द व अन्य मिथों को दूर कर देना चाहिए।इन सबके बावजूद भी आपको संभोग के दौरान दर्द से गुजरना पड रहा है तो आप डॉक्टर ही सलाह लें।🌎हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए “चम्पारण न्यूज” के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें.

जनहित में जारी….

🌎 “चम्पारण-न्यूज” यूट्यूब चैनल पर वीडियो देख्ने Subscribe”चम्पारण न्यूज” YouTube Channel

🐦हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए “चम्पारण न्यूज” को ट्विटर पर यहाँ फॉलो करें.

🌎विज्ञापन:-“ब्रह्मर्षि ट्रक रेंटल सर्विसद्वारा बालू और छरी की आपूर्ति सस्ते दामो पार किया जाता हैसंपर्क सूत्र:- अमित कुमार बेतिया 📞Call 9801952119 (सम्पर्क करने का समय सुबह 7.30 से शाम 7.30)

 

 5 चीजें जो मर्दों की कामशक्ति को कर देगी दुगुनाजो मर्दों की कामशक्ति को कर देगी दुगुना

20160818_222940.png

5 चीजें जो मर्दों की कामशक्ति को कर देगी दुगुना

1. आम: दो-तीन माह आम का अमरस पीने से मर्दाना ताकत आती है. शरीर की कमजोरी दूर होती है. शरीर मोटा होता है. वात संस्थान और काम शक्ति को उत्तेजना मिलती है.

2. भिंडी: भिंडी से बना पाउडर, प्रिमेच्यूर ईजॅक्युलेशन मे रामबन होता है. इसके 10गम पाउडर को ले और एक गिलास मिल्क मे घोलकर पी जाए. आप चाहे तो इसमे 2 स्पून शुगर भी डाल सकते है. ऐसा रोज़ 1 महीने तक करे, आपको ज़रूर लाभ मिलेगा.

3. नारियल: नारियल कामोत्तेजक है. वीर्य को गाढ़ा करता है.

4. गाजर: गाजर हर व्यक्ति के लिए शक्तिवर्धक ज्वदपबद्ध है. वीर्य को गाढ़ा करती है. मर्दाना कमजोरी को दूर करने में रामबाण है. गाजर का रस पीना चाहिए.

5. प्याज: प्याज कामवासना को जगाता है. वीर्य को उत्पन्न करता है. देर तक मैथुन करने की शक्ति देता है.

🌎 “चम्पारण न्यूज” फेसबुक पेज पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कर लाइक करे🐦 ट्विटर पर पर यहाँ फॉलोकरें:  

🌎”ब्रह्मर्षि ट्रक रेंटल सर्विस” बेतिया पश्चिमी चम्पारण बिहार, सभी प्रकार के ट्रक भाड़े पर लेने के लिए संपर्क करे अमित कुमार बेतिया 📞Call 09801952119

इसलिए महिलाओं को बिस्‍तर पर होता है अधिक दर्द ?

20160817_065732

इसलिए महिलाओं को बिस्‍तर पर होता है अधिक दर्द ?

कहीं ऐसा तो नहीं कि आपकी पत्‍नी बिस्‍तर पर आने से कतराती हैं, कभी सिर दर्द तो कभी थके होने के बहाने उनके पास हमेशा तैयार रहते हैं. इसी वजह से आप दोनों के बीच दूरियां भी बढ़ रहीं हैं. और जब कभी आपने प्‍यार से उनसे इसका कारण पूछा है, तो वह न कहने की वजह हमेशा दर्द को बताती हैं.

अभी हाल ही में हुए एक अध्‍ययन से यह बात सामने आई है कि बिस्‍तर पर प्‍यार के पलों में होने वाले दर्द के पीछे शारीरिक और मानसिक दोनों ही कारण होते हैं. हाल ही में इंडियाना युनिवर्सिटी ने एक अध्‍ययन किया और पाया कि 30 फीसदी महिलाओं को बिस्‍तर पर दर्द की समस्‍या का सामना करना पड़ता है, जबकि पुरुषों में ये महज 5 फीसदी ही होती है.

इस अध्‍ययन में 18 से 59 साल के जोड़ों को शामिल किया गया था. अध्‍ययन से एक और बात समाने आई वह ये कि ज्‍यादातर महिलाओं को बिस्‍तर पर बिताए जाने वाले पलों में दर्द का अनुभव उनकी अपनी सोच के चलते होता है.

ज्‍यादातर लोगों का मानना यही होता है कि बिस्‍तर पर महिलाओं को पुरुषों के बजाय ज्‍यादा दर्द को सहना पड़ता है और उनकी यही सोच महिलाओं को बिस्‍तर पर कमजोर बना देती हैं. तो जनाब अगली बार अपनी मोहतरमा के साथ बिस्‍तर पर रंगीन पल बिताने से पहले उन्‍हें मानसिक रूप से इसके लिए तैयार करना न भूलें. व आगे की स्लाइड में कुछ ऐसे ही गर्मागर्म फोटो दिए है.

🎥बेड पर पत्नी के साथ मचाना चाहते हैं धमाल तो अपनाएं ये तरीका


🎥बेड पर पत्नी के साथ मचाना चाहते हैं धमाल तो अपनाएं ये तरीका

👉विज्ञापन:-“ब्रह्मर्षि ट्रक रेंटल सर्विस” बेतिया पश्चिमी चम्पारण बिहार, सभी प्रकार के ट्रक भाड़े पर लेने के लिए संपर्क करे अमित कुमार बेतिया Call 09801952119

सेक्स हर किसी की जिंदगी का एक अहम हिस्सा है और हर एक व्यक्ति के लिए सेक्स बहुत जरूरी होता है। हर शख्स अपनी सेक्स लाइफ को इंज्यॉय करना चाहता है।

सेक्स लाइफ को ऐसे करें इंज्यॉय
आइये हम आज आपको बताते हैं वो तरीके जिनकी मदद से आप बेड पर धमाल करने के साथ ही अपने पार्टनर को हैरत में डाल सकतें हैं।

खुद को करें खुश – सेक्स करने से पहले खुद को खुश और तैयार करें। इससे आपका बेड पर टाइम बढ़ेगा।

फोरप्ले से करें शुरुआत – अपनी पार्टनर के साथ फोरप्ले से शुरुआत करें। इससे उनका मजा दुगना हो जाएगा। साथ ही उन्हें संतुष्टि भी मिलेगी।

पोजिशन बदलते रहें – पहले आप पार्टनर को पसंद आने वाली पोजिशन में सेक्स करें उसके बाद अपनी वाली भी ट्राई करें। इससे बदलाव के साथ ही आपकी इंटीमेट लाइफ में मजा भी आएगा।

दो कंडोम का जरुर करे इस्तेमाल
 – यदि आप बर्थ कंट्रोल के लिए कंडोम का इस्तेमाल करते हैं तो आपको सेक्स के सामय दो यूज करने चाहिए। इससे आप पूरी तरह सेफ रहेंगे।

क्लाइमैक्स में देरी न करें- अगर आप जल्दी ही एख्ट को खत्म कर देते हैं तो आपको इसके लिए एक्सरसाइज करनी चाहिए। वरना आप पार्टनर को संतुष्ट नहीं करवा पाएंगे।

​लड़कियों से जुडी 10 बाते जानकर हैरान रह जायंगे आप।

 

🎥

लड़कियों से जुडी 10 बाते जानकर हैरान रह जायंगे आप।

👉विज्ञापन:-“ब्रह्मर्षि ट्रक रेंटल सर्विस” बेतिया पश्चिमी चम्पारण बिहार, सभी प्रकार के ट्रक भाड़े पर लेने के लिए संपर्क करे अमित कुमार बेतिया Call 09801952119

लड़कियों को समझाना सबके बस की बात नहीं है लड़कियों का मूड कब बदल जाये किसी को कुछ पता नहीं चलता, लड़कियां खुद ही समझ नहीं पाती की कब उन्हें क्या करना है कब क्या नहीं करना है. ऐसे में वो अगर रिलेशनशिप में आजाए तो उनको समझना और मुश्किल होता जाता है.

लंदन में गर्ल्‍स गाईडिंग ऑगनाईजेशन द्वारा कराये गये सर्वे में किशोरावस्‍था में चल रही लड़कियों से पूछा गया, “आपको क्‍या लगता है, कितनी उम्र में आपकी शादी हो जायेगी?” तो 48 फीसदी लड़कियों ने कहा 22 से 25 साल की उम्र में, 31 फीसदी लड़कियां बोलीं कि 26 से 29 साल की उम्र में उनकी शादी हो जायेगी और 12 फीसदी को लगता है कि उनकी शादी 30 से 34 वर्ष की आयु के बीच होगी।

चौका देने वाली बात तो यह है की इस सर्वे में 2% लड़कियों ने कहा की उनकी शादी 16 साल के पहले हो जाएगी। और कुछ लड़कियों का कहना था की 19-20 तक हो जाएगी। कुछ बाते उनके बारे में हम आपको बताते है-

1. स्पेशल फील करना- लड़कियां चाहती है की अगर कोई लड़का उनकी लाइफ में है तो वह हमेशा उन्हें स्पेशल फील करवाता रहे.

2. झूठ बोलना नापसंद- लड़कियां चाहती है की उनका बॉयफ्रेंड उनके प्रति लॉयल रहे कभी झूठ न कहे.

3. तारीफे पसंद – लड़कियों के अपनी तारीफे बहुत पसंद होती है और जब वह तारीफ उनके बॉयफ्रेंड ने की हो तो उन्हें काफी अच्छा लगता है, भले ही वह तारीफे झूठी ही क्यों न हो.

4. दिन में सपने देखती है- लड़कियां अपने क्रश या अपने बॉयफ्रेंड के बारे में दिनभर सोचती रहती है लेकिन कभी जाहिर नहीं होने देती।

5. पसंदीदा व्यक्ति की बुराई नहीं सुनती– लड़कियां जिसे पसंद करती है, उनकी बुराई नहीं सुन सकती फिर चाहे वो उनका बॉयफ्रेंड हो या बेस्ट फ्रेंड।

6. सलाह देना पसंद– लड़कियां सलाह देने में बहुत माहिर होती है, फिर चाहे वो सलाह अपनी फ्रेंड को हो या अपने घरवालों को.

7. बुरा लगता है– लड़कियों को कभी यह न कहे की वो किसी काम की नहीं है, क्योंकि यह बात उनको बहुत बुरी लगती है।

8. कमर पर हाथ रखना पसंद- बॉयफ्रेंड अगर लड़की के कमर पर हाथ रखे, तो यह उसे काफी अच्छा लगता है, और वो बहुत अच्छा फील करती है.

9. पहला प्यार या पहला क्रश- लड़कियां अपना पहला प्यार या पहला क्रश कभी नहीं भूलती।

10. फीलिंग गेस न करे- लड़कियों की फीलिंग कभी गेस नहीं करना चाहिए, बल्कि उनसे पूछ लेना चाहिए।

​नैचरल तरीकों से आप अपनी खोई हुई वर्जिनिटी वापस पाये। आइये जानते हैं क्या है वह उपाय?


लड़कियों के लिए वर्जिनिटी का अपना महत्व होता है। सेक्स के बाद जब योनी में ढीलापन आ जाए, तो लड़की के साथ-साथ उसके साथी को भी सेक्स का सुख नहीं मिल पाता। और वर्जिनिटी के इस सुख के लिए लड़कियों को ओपरेशन का सहारा लेना पड़ता है। लेकिन अब कुछ ऐसे भी उपायों की खोज हो गई है, जिससे नैचरल तरीकों से आप अपनी खोई हुई वर्जिनिटी वापस पा सकती हैं। आइये जानते हैं क्या है वह उपाय?

 👉विज्ञापन:-“ब्रह्मर्षि ट्रक रेंटल सर्विस” बेतिया पश्चिमी चम्पारण बिहार, सभी प्रकार के ट्रक भाड़े पर लेने के लिए संपर्क करे अमित कुमार बेतिया Call 09801952119 

करौंदा:
करौंदा आपकी वर्जिनिटी हासिल करने में मदद कर सकता है। कहा जाता है कि करौंदे के रस को पानी में उबालकर उसे ठंडा करें और उसे बोतल में स्टोर करके रखें। सप्ताह में तीन बार नहाते वक्त उसका इस्तेमाल वजैनल एरिया में करें। इससे आपको आपकी वर्जिनिटी वापस मिल सकती है।


माजूफल
: ये एक तरह का फल होता है, जिसका रस वजाइनल एरिया में लगाने से खोई हुई वर्जिनिटी वापस मिल सकती है।

 👉विज्ञापन:-“ब्रह्मर्षि ट्रक रेंटल सर्विस” बेतिया पश्चिमी चम्पारण बिहार, सभी प्रकार के ट्रक भाड़े पर लेने के लिए संपर्क करे अमित कुमार बेतिया Call 09801952119 


कुरकुमा कोरोसा:
ये भी एक तरह का आयुर्वेदिक फल है, जिसके इस्तेमाल से वजाईना की सतह संकुचित हो जाती है।


प्यूरेरिया मिरिफिका:
ये एक ऐसा फल है, जिसका उपयोग ब्रेस्ट एनलार्जमेंट के लिए भी किया जाता है। लेकिन ये फल आपकी खोई हुई वर्जिनिटी भी वापस ला सकता है।


विच हेज़ल:
ये एक ऐसा फूल है, जिसके बने चूर्ण से अपने प्राइवेट पार्ट को यदि लड़कियां धोएं, तो वजाइनल एरिया फिर से कसीला बन सकता है।


एलो वीरा:
नहाने से पहले एलो वीरा का जेल वजाइनल एरिया में लगाने से न सिर्फ वजाइना संकुचित होती है, बल्कि वजाइना के कई रोगों से भी आपको मुक्ति मिल सकती हैं।

नोट: डॉक्टर से बगैर सलाह लिए इन तरीकों को न अपनाएं।

 👉विज्ञापन:-“ब्रह्मर्षि ट्रक रेंटल सर्विस” बेतिया पश्चिमी चम्पारण बिहार, सभी प्रकार के ट्रक भाड़े पर लेने के लिए संपर्क करे अमित कुमार बेतिया Call 09801952119 

आखिर क्यों होती है महिलाओं को सेक्स की इच्छा?

20160707_220010

सोशल जर्नलिस्ट पोपट लाल की कलम से…..✏

हम आपको महिलाओं की उस सोच और तथ्य से रूबरू करवाएंगे जिन्हें जानकर न सिर्फ आपको हैरानी होगी बल्कि आप उन्हें अपनाकर कुछ हद तक महिलाओं को समझने में कामयाब भी होंगे।

👉विज्ञापन:-“ब्रह्मर्षि ट्रक रेंटल सर्विस” बेतिया पश्चिमी चम्पारण बिहार, सभी प्रकार के ट्रक भाड़े पर लेने के लिए संपर्क करे अमित कुमार बेतिया Call 09801952119

मनोवैज्ञानिक डेविड बुस और सिंडी मेस्टन ने एक रिसर्च किया और पाया कि महिलाओं में यौन उत्तेजना के कारणों में प्यार कोई वजह नहीं है।

अब वर्जिनिटी के बारे में महिलाएं नहीं सोचती। वो एक समय था जब महिलाएं वर्जिनिटी को काफी सीरियस लेती थी और शादी के बाद ही इसे खोने में विश्वास रखती थीं। लेकिन अब कई महिलाओं को वर्जिनिटी खिताब नहीं बोझ जैसा लगता है।

स्ट्रेस को दूर भगाने ने लिए महिलाएं अब सेक्स को प्रेफर करती हैं। सेक्स का एक बेहतर सेशन दिन भर की थकान दूर कर देता है। बोझिल दिन को अचानक से तरोताजा कर देता है। इसके बाद आपको नींद भी अच्छी आती है। यह भी वजह है कि महिलाएं अब सेक्स की तरफ आकर्षित होती हैं।

जान कर आपको हैरानी होगी लेकिन ये सच है बोरियत दूर करने के लिए भी महिलाएं सेक्स करती हैं। कभी-कभार वो अपने आस-पास में मौजूद ऑप्शन से भी बोरियत दूर कर लेती हैं।

कभी-कभी अपने साथी को हमेशा अपना बनाए रखने के लिए भी महिलाएं सेक्स करती हैं। क्योंकि उन्हें लगता है अगर संबंध नहीं बनाया तो कहीं उनका प्रेमी उन्हें छोड़ कर न चला जाए। प्रेमी को अपने साथ बनाए रखने के लिए महिलाएं उसकी इस इच्छा को मन मारकर भी पूरी कर देती हैं।

किसी भी और वजह से ज्यादा जरूरी वजह यह है कि सेक्स एक प्राकृतिक जरूरत है। लगभग 50 फीसदी महिलाओं ने कहा कि उन्होंने अंतरंग संबंध इसलिए बनाए क्योंकि उन्हें ऐसा करने की तलब उठी। दो लड़कियों ने माना कि उनके कुछ ऐसे दोस्त थे जिनके साथ वह संबंध भी बना लेती थीं। इस रिश्ते में किसी किस्म का बोझ और रिस्क नहीं था।

​चौंक जाएंगे आप क्योंकि लड़कियां इसलिए रहती हैं हमेशा कुंवारी

 

चौंक जाएंगे आप ……कुछ लड़कियां इसलिए रहती हैं हमेशा कुंवारी

नई दिल्ली हो या मुम्बई अब तो पटना में भी बहुत सी ऐसी लड़कियां आपने देखी होंगी जो अपनी जिंदगी में कभी भी शादी नहीं करने की हठ लगाए रही है। इसकी असल वजह क्या है? क्या उन्हें कोई मर्द पसंद नहीं आता या फिर रह जाती है उनकी तलाश अधूरी।

इसलिए नहीं करती शादी:

कई लड़कियां शादी की बजाय अकेले रहना पसंद करती हैं, क्योंकि उनके दिमाग में यह होता है कि पुरुष धोखा देते हैं। लॉयल नहीं होते। चीटिंग करते हैं।

वे ऐसे रिश्तों को बनाना पसंद नहीं करती, जिनसे बाद में रोना पड़े। वे बिंदास जिंदगी जीना चाहती हैं। वे दोस्त बनाती हैं, लेकिन शादी किसी से नहीं करतीं। बॉयफ्रैंड बनाना भी उन्हें सुहाता, क्योंकि उन्हें लगता है कि कौन इन झंझटों में पड़े। बेहतर है अकेले रहा जाए।

ऐसी महिलाओं को लिव इन का कॉन्सेप्ट ही समझ नहीं आता। किसी का रौब, बंधन वे सहना ही नहीं चाहतीं। जिंदगी अपनी शर्तों पर जीना चाहती हैं। एडस्टमेंट नहीं करना चाहतीं जबकि किसी रिलेशनशिप में थोड़ा-बहुत एडजस्टमेंट करना पड़ता है।

यही वजह है कि वे अपनी लाइफ में उन्हीं लोगों का साथ पसंद करती हैं, जो उन्हें किसी तरह से बदलने की कोशिश न करे। ऐसी महिलाओं के ग्रुप में दोस्त ही इतने होते हैं कि प्रेमी की उन्हें जरूरत नहीं होती।

कई बार अपने करियर को कुछ ज्यादा गंभीरता से लेने की वजह से भी प्यार और रिश्तों के लिए उनके पास टाइम नहीं होता। इनके विचार थोड़े अलग होते हैं। इन्हें फिजिकली अटेच होना पसंद नहीं होता। ये बस बौद्धिक स्तर पर जुड़ती हैं।

इनका मानना होता है कि किसी मेल से लगाव रखने से उनकी डिमांड फिजिकली अटेच होने की होती ही है। चाहे वह जाहिर करे या न करे