Category Archives: ●विदेश की खबरें.

⏭इराक़ और सीरिया से भाग कर यमन जा रहे हैं दाइशी

⏭इराक़ और सीरिया से भाग कर यमन जा रहे हैं दाइशी
✍दैनिक_खोज_खबर सहयोगी संवाददाता:-ब्रिटेन से प्रकाशित होने वाले समाचार पत्र फ़ाइनेन्शल टाइम्स ने बुधवार की अपनी रिपोर्ट में लिखा कि इराक़ और सीरिया में आतंकवादी गुट दाइश की पराजय के कारण अब इस गुट के सदस्य यमन की ओर भाग रहे हैं ताकि गुट के रूप में अधिक गतिविधि अंजाम दे सकें।

फ़ाइनेन्शल टाइम्स ने लिखा कि सीरिया और इराक़ से फ़रार करने वाले दाइश के सदस्य यमन में पायी जाने वाली अशांति के कारण इस देश में सरलत से घुसने में सफल हो रहे हैं।
इस रिपोर्ट को एलिज़ाबेथ केन्डाल ने तैयार की है।

इस रिपोर्ट में आया है कि आतंकवादी गुट दाइश ने अपने सीमित सदस्यों के साथ यमन में गतिविधियां की हैं किन्तु अलक़ायदा के आतंकियों की इस देश में गतिविधियां विस्तृत हैं।
केन्डाल के अनुसार यमन में अलक़ायदा और दाइश की समान्तर गतिविधियों के कारण इस देश में अशांति यथावत जारी रहेंगी।
ज्ञात रहे कि यमन पर सऊदी अरब और उसके घटकों के व्यापक हमलों के कारण देश के विभिन्न क्षेत्रों विशेषकर दक्षिणी क्षेत्रों में दाइश और अलक़ायदा की गतिविधियों में वृद्धि हुई है।

Advertisements

अफगान सेना पाकिस्तानी हमलों का जवाब देने के लिए तैयार हैः अफगान सेना प्रमुख​

अफगान सेना पाकिस्तानी हमलों का जवाब देने के लिए तैयार हैः अफगान सेना प्रमुख

पाकिस्तानी भूमि से अफगानिस्तान के पूर्वी प्रांतों में तोपखानों से हमले हुए जो काबुल अधिकारियों की ओर से कड़ी प्रतिक्रिया का कारण बना है।

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में होने वाला हालिया आतंकवादी विस्फोट पाक-अफगान अधिकारियों के मध्य शाब्दिक विवाद का कारण बना है।

सिंध प्रांत में होने वाले हालिया आतंकवादी विस्फोट में 70 से अधिक व्यक्ति हताहत और लगभग 300 घायल हो गये थे। इस विस्फोट के बाद पाकिस्तानी अधिकारियों ने अफगानिस्तान पर आरोप लगाया कि वह आतंकवादियों के लिए सुरक्षित शरण स्थली में परिवर्तित हो गया है।

साथ ही उन्होंने इस्लामाबाद में अफगान दूतावास के कुछ अधिकारियों को तलब करके 76 आतंकवादियों की सूची उनके समक्ष पेश की।

साथ ही पाकिस्तानी अधिकारियों ने इन आतंकवादियों के विरुद्ध कार्यवाही करने या उन्हें गिरफ्तार करके इस्लामाबाद सरकार के हवाले करने की मांग की है।

इसके अलावा पाकिस्तानी भूमि से अफगानिस्तान के पूर्वी प्रांतों में तोपखानों से हमले हुए जो काबुल अधिकारियों की ओर से कड़ी प्रतिक्रिया का कारण बना है।

अफगान सेना के प्रमुख ने कहा है कि अगर कूटनियक प्रयास इन हमलों के बंद होने का कारण नहीं बने तो इस देश की सेना इन हमलों का जवाब देने और अफगानिस्तान की राष्ट्रीय संप्रभुता की रक्षा के लिए तैयार है।

अफगान राष्ट्रपति के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हनीफ अतमर ने पाकिस्तानी अधिकारियों के दावों की प्रतिक्रिया में उनके दावों को रद्द कर दिया और कहा कि अफगानिस्तान ने जिन आतंकवादियों की सूची पाकिस्तान को सौंपी है इस्लामाबाद को चाहिये कि उसके बारे में कार्यवाही करे।

पाकिस्तान और अफगानिस्तान के अधिकारियों के मध्य जो नया शाब्दिक विवाद सामने आया है शायद उसमें सबसे अधिक अफगानिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हनीफ अतमर की प्रतिक्रिया पर ध्यान दिया गया है और आम जनमत पाकिस्तानी अधिकारियों की अपेक्षा हनीफ अतमर के बयान को अधिक स्वीकार कर रहा है।

पाकिस्तान ने ऐसी स्थिति में अफगानिस्तान को आतंकवादियों की सुरक्षित शरणस्थली में बदल जाने का आरोप लगाया है जब क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय जनमत का मानना है कि पाकिस्तान विशेषकर इस देश के कबाएली क्षेत्रों में तालेबान की उपस्थिति और वहां से अफगान विरोधी हमलों की योजना से इस्लामाबाद अधिकारियों के दावे रद्द हो जाते हैं।

बहरहाल पाकिस्तान और अफगानिस्तान दोनों को आतंकवाद के खतरे का सामना है और इन दोनों देशों के मध्य विवाद व मतभेदों में वृद्धि दोनों दोनों के आतंकवाद और अतिवाद से मुकाबले में रुकावट बन जायेगी और इससे विध्वंसकारी कार्यवाहियों के लिए आतंकवादियों को अधिक अवसर मिल जायेगा।

पाक ने भी किया सर्जिकल स्ट्राइक कई आतंकी ढ़ेर

🚫पाकिस्तानी सेना ने पाक-अफ़ग़ान सीमा पर आतंकवादी गुट जमाअतुल अहरार के ठिकानों पर हमला करके कई ठिकानों को तबाह कर दिया।

🚫पाक ने भी किया सर्जिकल स्ट्राइक कई आतंकी ढ़ेर 

अतुलकश्यप प्रबंध सम्पादक चम्पारण-न्यूज ☞सूत्रों के अनुसार हमले में ख़ैबर और महमंद एजेन्सियों की सीमा की दूसरी ओर मौजूद जमाअतुल अहरार के कैंपों को निशाना बनाया गया। हमले में संदिग्ध रूप से जमाअतुल अहरार के डिप्टी कमान्डर आदिल बाचा का कैंप, ट्रेनिंग कैंप और चार अन्य कैंप तबाह कर दिए गये जबकि हमले में कई संदिग्ध आतंकियों के मारे जाने की भी सूचना है किन्तु स्वतंत्र मीडिया द्वारा इन दावों की पुष्टि नहीं हो सकी है। ज्ञात रहे कि पाकिस्तान में हालिया आतंकवादी हमलों की ज़िम्मेदारी इसी आतंकी संगठन ने स्वीकार की है। Continue reading →

🚫पाकिस्तान में सूफी लाल शाहबाज कलंदर दरगाह पर आत्मघाती हमला, 100 लोगों की मौत

🚫पाकिस्तान में सूफी लाल शाहबाज कलंदर दरगाह पर आत्मघाती हमला, 100 लोगों की मौत

🚫इस्लामिक चरमपंथी संगठन ISIS  ने ली आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी, हमले में 100 लोगों की मौत

प्रधान सम्पादक चम्पारण-न्यूज☞पाकिस्तान के सिंध प्रांत के सहवन शरीफ़ में स्थित लाल शहबाज़ क़लंदर दरगाह में एक आत्मघाती बम धमाका हुआ है, जिसमें कम से कम 100 लोगों की मौत हो गई है।

यह आत्मघाती हमला गुरुवार की शाम उस वक़्त हुआ जब दरगाह में सूफ़ी श्रद्धालुओं की काफ़ी भीड़ थी।

इस आतंकवादी हमले में सैकड़ों अन्य लोगों के घायल होने के समाचार हैं।

लाल शाहबाज़ क़लंदर 13वीं सदी के प्रसिद्ध सूफ़ी संत थे। सूत्रों के अनुसार, धमाके के बाद मचने वाली भगदड़ के कारण भी कई लोग घायल हुए हैं।

इलाक़े में एक ही अस्पताल होने की वजह से स्वास्थ्यकर्मियों को घायलों के इलाज को लेकर परेशानी आ रही है।

पाकिस्तान के प्रधान मंत्री नवाज़ शरीफ़ ने आतंकवादी हमले की निंदा करते हुए इसे पाकिस्तान के विकास और पाकिस्तान के भविष्य पर हमला बताया है।

​जजों की गाड़ी पर आतंकी हमला, दो की मौत कई घायल

🚫पाकिस्तान के प्रांत ख़ैबर पख्तून ख्वाह की राजधानी पेशावर में हुए आतंकी घमाके में दो लोगों की मौत हो गई और कई घायल हो गए हैं।
जजों की गाड़ी पर आतंकी हमला, दो की मौत कई घायल

✍अतुलकश्यप प्रबंध सम्पादक चम्पारण-न्यूज☞पाकिस्तानी समाचार पत्र डॉन न्यूज़ के अनुसार बुधवार को पेशावर में जजों की गाड़ी को निशाना बनाकर किए गए धमाके में गाड़ी चालक सहित दो लोगों की मौत हो गई है जबकि इस आतंकी हमले में कई अन्य के घालय होने की सूचना है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार यह हमला आत्मघाती था। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार एक मोटर साइकिल सवार व्यक्ति ने ख़ुद की गाड़ी को जजों की कार से टकरा कर उड़ा दिया, इस हमले में जज के ड्राइवर सहित दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि कई अन्य घायल हो गए हैं। घटनास्थल पर मौजूद लोगों का कहना है कि घायलों में कई की हालत बहुत नाज़ुक है।

उल्लेखनीय है कि पेशावर का हैयाताबाद क्षेत्र, जहां धमाका हुआ है वह पूरे शहर का सबसे ज़्यादा सुरक्षित और पॉश क्षेत्रों में से एक है, जहां बड़ी संख्या में सरकारी और निजी संस्थानों के कार्यालय मौजूद हैं।

इस बीच पाकिस्तानी मीडिया की ख़बरों के अनुसार जजों की गाड़ी पर आत्माघाती हमले की ज़िम्मेदारी पाकिस्तान का प्रतिबंधित आतंकी गुट तहरीके तालेबान पाकिस्तान (टीटीपी) ने क़बूल की है।

ज्ञात रहे कि पाकिस्तान के ख़ैबर पख्तून ख्वाह की राजधानी पेशावर में इससे पहले फ़रवरी 2015 में भी हैयाताबाद क्षेत्र में स्थित इमामिया मस्जिद व इमाम बारगाह में हुए आत्मघाती धमाके और हथगोले हमले में 22 लोग हताहत और 50 से अधिक घायल हुए थे।

पाकिस्तान: पंजाब विधानसभा के सामने भीषण धमाका, डीआईजी सहित 14 की मौत

🚫पाकिस्तान की पंजाब विधानसभा के सामने आत्मघाती धमाके में डीआईजी और एसएसपी सहित 14 लोग हताहत और 40 से अधिक घायल हो गए हैं।

✍चम्पारण-न्यूज प्रबंध सम्पादक अतुलकश्यप के साथ सहयोगी संवाददाता असलम शेख की रिपोर्ट :-पाकिस्तान के समाचार चैनल डॉन की रिपोर्ट के अनुसार यह आत्मघाती विस्फोट सोमवार को पंजाब विधानसभा के सामने स्थित माल रोड पर हुआ, जहां दवा विक्रेताओं का धरना प्रदर्शन चल रहा था। इस आतंकी हमले में कई पुलिस अधिकारियों सहित कुछ पत्रकारों के भी हताहत और घालय होने की सूचना है।

पंजाब पुलिस के अधिकारियों के अनुसार यह धमाका आत्मघाती था और हमलावर मोटर साइकिल पर सवार होकर आए थे। विस्फोट के बाद क्षेत्र में भगदड़ मच गई, जिसके कारण कई लोग घायल हो गए। धमाके के तुरंत बाद पुलिस ने पूरे क्षेत्र की नाकाबंदी कर दी है और तलाशी अभियान आरंभ कर दिया है।

​जर्मनी के हैम्बर्ग शहर के हवाई अड्डे पर अज्ञात ज़हरीली गैस के फैल जाने से कम से कम 50 लोग प्रभावित हो गए।


जर्मनी के हैम्बर्ग शहर के हवाई अड्डे पर अज्ञात ज़हरीली गैस के फैल जाने से कम से कम 50 लोग प्रभावित हो गए।
अतुलकश्यप प्रबंध सम्पादक चम्पारण-न्यूज☞हैम्बर्ग हवाई अड्डे के एयर कंडीशन सिस्टम से निकलने वाली इस अज्ञात गैस के फैल जाने से 50 लोगों के प्रभावित हो जाने के बाद अग्निश्मन दल के लोगों ने सैकड़ों लोगों को हवाई अड्डे से बाहर निकाल लिया। हैम्बर्ग हवाई अड्डे के प्रवक्ता कैरन श्टाइन ने बताया है कि गैस के फैल जाने के बाद हवाई अड्डे की सभी उड़ानें रद्द कर दी गईं और एयरपोर्ट के अधिकांश भागों को लोगों से ख़ाली करा लिया गया।
गैस के कारण 50 से अधिक लोगों को सांस लेने में कठिनाई और आंखों में तेज़ जलन का सामना करना पड़ा। फ़ायर ब्रिगेड के कर्मियों ने इस मामले की जांच आरंभ कर दी है। अभी तक किसी ने इस घटना को आतंकवादी कार्यवाही नहीं बताया है।

पटना-इंदौर ट्रेन हादसा : ट्रेनों को निशाना बनाने का पाकिस्तान से था निर्देश! मास्टरमाइंड गिरफ्तार

🛇इस्लामिक परिवेश में पले बढे शमसुल होदा नेपाल मूल का आइएसआइ एजेंट है. 

image

मोतिहारी ब्यूरो प्रमुख देवेंद्र कुमार की रिपोर्ट :-रक्सौल/काठमांडू : कानपुर ट्रेन हादसे का मुख्य आरोपित और दुबई में बैठ कर भारत के सीमाई इलाके में आइएसआइ का स्लीपर सेल मजबूत करनेवाला शमसुल होदा सोमवार की देर रात काठमांडू में गिरफ्तार कर लिया गया.   Continue reading →

नेपाल का दाऊद शमशुल होदा दुबई से गिरफ्तार, नेपाल पुलिस ने कलैया पुलिस कार्यालय में किया सार्वजनिक।

kanpur-train

🚫ब्रेकिंग न्यूज:-नेपाल का दाऊद शमशुल होदा दुबई से गिरफ्तार, नेपाल पुलिस ने कलैया पुलिस कार्यालय में किया सार्वजनिक। 

🚫बारा जिला एसपी ने चार आतंकियों को किया मीडिया के सामने कहा-नही पकड़े जाते तो होती तबाही।

✍अतुलकश्यप प्रबंध सम्पादक चम्पारण-न्यूज☞ रेल हादसे करा हजारों लोगो के जान से खेलने वाला आतंकवादी शमसुल होदा को एनआइए की टीम ने दुबई से गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार आतंकवादी कानपुर रेल हादसे का मुख्य आरोपी है. दुबई से गिरफ्तार करने के बाद उसे नेपाल लाया गया है जहां एनआइए, आइबी और रॉ के साथ ही नेपाल पुलिस की टीम उससे पूछताछ कर रही है.

गिरफ्तार आतंकी शमसुल होदा कानपुर रेल हादसे सहित कई ट्रेन हादसों का आरोपी है. पिछले साल कानपुर में हुए हादसे को लेकर बिहार पुलिस ने सनसनीख़ेज़ खुलासा करते हुए कहा था कि इस घटना के पीछे पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई का हाथ है जिसे दुबई में बैठे शमसुल होदा ने अपने लोगो के जरिये इस घटना को अंजाम दिया है.

हालांकि बिहार पुलिस को यह सफलता पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन में एक अक्टूबर 2016 को पटरी पर रखे बम के जांच के दौरान हुआ था. इसमे पुलिस ने मोती पासवान नामक आदमी को गिरफ्तार किया था और उसी ने शमसुल होदा का नाम बताया था. यह आतंकी मूल रूप से नेपाल का रहने वाला है और दुबई में बिजनेस करता है. जानकारी के अनुसार इसके संबंध पाकिस्तान के आईएसआई और दाउद इब्राहिम से भी है. बता दें की जिस ट्रेन हादसे का यह मुख्य आरोपी है वह इंदौर-पटना एक्सप्रेस ट्रेन हादसे में करीब 153 लोगों की मौत हुई थी और सैकड़ो लोग घायल हुए थे.

जापान में कट्टरवाद का पर्याय हैं मुस्लिम को न नागरिकता, न मजहब के प्रचार की अनुमति मुजफ्फर हुसैन

🚫स्वतंत्र पत्रकार मोहम्मद जुबेर हुसैन ने 9/11 की घटना के पश्चात जापान की यात्रा की उनके अनुभव के अधार पर जापान में कट्टरवाद का पर्याय हैं मुस्लिम को न नागरिकता, न मजहब के प्रचार की अनुमति

🚫जापान में कट्टरवाद का पर्याय हैं मुस्लिम को न नागरिकता, न मजहब के प्रचार की अनुमति मुजफ्फर हुसैन

🚫स्वतंत्र पत्रकार मोहम्मद जुबेर हुसैन ने 9/11 की घटना के पश्चात जापान की यात्रा की उनके अनुभव के अधार पर 

क्या आपने कभी यह समाचार पढ़ा कि किसी मुस्लिम राष्ट्र का कोई प्रधानमंत्री या बड़ा नेता तोकियो की यात्रा पर गया हो? क्या आपने कभी किसी अखबार में यह भी पढ़ा कि ईरान अथवा सऊदी अरब के राजा ने जापान की यात्रा की हो?

 यह भी आपने कभी नहीं सुना होगा कि जापान के प्रधानमंत्री अथवा किसी मंत्री ने पाकिस्तान, ईरान, सीरिया अथवा इजिप्ट की सरकारी यात्रा की। जापान एक ऐसा देश है जो महज अपने राष्ट्रीय हित तक सीमित रहता है, बिना ज्यादा बयानबाजियां किए। वहां की जनता केवल अपने राष्ट्र की प्रगति और भलाई के बारे में ही सोचती रहती है। आज तक यह नहीं सुना गया कि जापान में कोई आतंकवादी हमला हुआ हो।

आप शायद यकीन न करें, पर दुनिया में केवल जापान ही एक ऐसा देश है जो मुसलमानों को जापानी नागरिकता नहीं देता है। यदि यह कहा जाए कि जापान में इस्लाम मजहब वर्जित है तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। वहां अब किसी भी मुसलमान को स्थायी रूप से रहने की इजाजत नहीं दी जाती है। Continue reading →