​रायसेन:महिनों-सालों से नदारद है गांवों में पदस्थ कई कर्मचारी

रायसेन:महिनों-सालों से नदारद है गांवों में पदस्थ कई कर्मचारी

नसीम अली दैनिक खोज खबर रायसेन मध्यप्रदेश

रायसेन 27 फरवरी। टीएल मीटिंग के दौरान कलेक्टर श्रीमती भावना वालिम्बे द्वारा नर्मदा सेवा यात्रा के लिए ग्रामवार बनाए गए नोडल अधिकारियों से फीडबेक लिया गया। नोडल अधिकारियों द्वारा दिए गए फीडबेक में कई चौंकाने वाली जानकारियां सामने आईं हैं। नोडल अधिकारियों द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार कहीं रोजगार सहायक, तो कहीं पंचायत सचिव, तो कहीं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता तथा शिक्षक  महीनों, सालों से ड्यूटी पर नहीं आ रहे हैं। कलेक्टर श्रीमती वालिम्बे ने इस पर घोर नाराजगी व्यक्त करते हुए संबंधित अधिकारियों को ऐसे रोजगार सहायक, पंचायत सचिव तथा शिक्षकों की सेवा समाप्त करने के निर्देश दिए हैं। 

कलेक्टर श्रीमती वालिम्बे ने कहा कि जिन्हें काम में रूचि नहीं है उन्हें सेवा में रखने का कोई औचित्य नहीं है। ऐसे लोगों की सेवा समाप्त कर विभाग द्वारा नियमानुसार दूसरों को काम करने का अवसर प्रदान किया जाए। बैठक में मोतलसिर में पिछले डेढ़ साल से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के नहीं आने की जानकारी मिली है। यहां सहायिका द्वारा आंगनबाड़ी संचालित की जा रही है। कलेक्टर श्रीमती वालिम्बे ने महिला बाल विकास अधिकारी को संबंधित आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की सेवा समाप्त करने के निर्देश दिए हैं। 
इसी तरह कैलकच्छ में 6 माह से रोजगार सहायक के नहीं आने की जानकारी नोडल अधिकारी द्वारा दी गई। ग्राम पतई में प्रायमरी स्कूल की महिला शिक्षक के विगत दो-तीन वर्षो से स्कूल नहीं आने की जानकारी दी गई। पूछे जाने पर उनके मेडिकल में रहने के बारे में बताया जा रहा है लेकिन मेडिकल अवकाश की कोई एप्लीकेशन स्कूल में नहीं मिली। ग्राम टिमरावन में पशु चिकित्सकों के नियमित नहीं आने की शिकायत की गई। कलेक्टर श्रीमती वालिम्बे ने सभी संबंधित अधिकारियों को ऐसे लापरवाह कर्मचारियों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं।  
नोडल अधिकारियों द्वारा गांव के किए गए सर्वे में कई उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों की भी जानकारी दी गई। कई स्कूल स्वच्छ मिले और वहां के शिक्षक नियमित आते हैं। कई गांवों में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के सक्रिय रहने से वहां आंगनबाड़ी का संचालन बेहतर हो रहा है। इसके अलावा सर्वे में पेयजल, शौचालय, सामाजिक सुरक्षा पेंशन के साथ ही कई हितग्राहीमूलक योजनाओं की भी जानकारी ली गई। कलेक्टर श्रीमती वालिम्बे ने कहा कि वर्तमान में नर्मदा सेवा यात्रा के परिक्रमा पथ के गांवों का सर्वे कर फीडबेक लेकर कमियों को ठीक किया जाएगा। इसके बाद पूरे जिले में इसी तरह गांवों में संचालित योजनाओं की वास्तविक स्थिति तथा शासकीय अमले के कामकाज के बारे में जानकारी एकत्र कर व्यवस्था को बेहतर बनाने का प्रयास किया जाएगा।   
बैठक में कलेक्टर श्रीमती वालिम्बे द्वारा विभिन्न विभागों के निर्धारित समय सीमा वाले प्रकरणों की समीक्षा की गई तथा उनके निराकरण के निर्देश दिए गए। उन्होंने विकासखण्ड तथा तहसील स्तर के अधिकारियों को जनसुनवाई आयोजित कर लोगों की समस्याओं का निराकरण तथा शासकीय योजनाओं का लाभ देना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री स्वरोचिष सोमवंशी सहित सभी जिला अधिकारी उपस्थित थे।

%d bloggers like this: