सीवान :ऐतिहासिक हॉस्पिटल के जमीन पर जिला परिषद् ने बस स्टैंड के लिए टेंडर निकाला

सीवान :ऐतिहासिक हॉस्पिटल के जमीन पर जिला परिषद् ने बस स्टैंड के लिए टेंडर निकाला

————–

✍जामो से मनीष कुमार उर्फ़ मनेजर गुप्ता का रिपोर्ट

————–
गोरियाकोठी (सीवान )

प्रखंड के जामो बाजार में स्थित ऐतिहासिक सरकारी हॉस्पिटल के जमीन पर जिला परिषद् ने बस व् टेक्सी स्टेण्ड के लिए टेंडर निकाल दिया। और सरकार हॉस्पिटल निर्माण को दरकिनार कर दिया। जिससे इस क्षेत्र के लोगो में काफी रोष है। बताया जाता है किसी जबाने में ये सारण प्रमंडल का तीसरा व् सीवान जिले का पहला सबसे बड़ा और सुबिधाजनक हॉस्पिटल था।सन् 1880ई0 में बना ये हॉस्पिटल काफी सुबिधाजनक और बहुत ही सुचारू रूप से चलने वाला ये हॉस्पिटल था।लगभग दो एकड़ के ज्यादा क्षेत्र में फैला ये हॉस्पिटल इस क्षेत्र के गौरव से कम नहीं था।इस हॉस्पिटल में कई महापुरुष लेखक कवि नेता अभिनेता का इलाज़ हो चूका है।इस हॉस्पिटल में इलाज़ के लिए पड़ोसी जिले के भी लोग आते थे।19 वी व् 20 वी सदी तक तो हॉस्पिटल सही चला।इस बीच हमारा देश अंग्रेजो के गुलामी से मुक्ति भी मिला लेकिन 21वी सदी में हॉस्पिटल का विकाश पूरी तरह पिछड़ गया। देश को आज़ाद हुए लगभग 70 साल से ज्यादा हो रहा है।लेकिन हॉस्पिटल आज भी ब्रिटिश हुकूमत काल के बना जैसा के तैसा रह गया। आजादी के बाद कितने सरकार आई गई।लेकिन किसी सरकार का ध्यान ही नहीं गया।कई बार तो लोग आवाज़ भी उठाये स्वास्थ बिभाग को आवेदन भी दिये लेकिन कोई असर न हुआ। नतीजन आज हॉस्पिटल पूरी तरह जर्जर स्थित में हो गया है।जो की कभी भी ध्वस्त हो सकता है। पिछले ही साल सितम्बर माह में जामो क्षेत्र के लोग एकजुट होकर एक विशाल जनसंवाद का आयोजन रखा जिसमे महाराजगंज के संसद जनार्धन सिंह सिग्रीवाल व् गोरियाकोठी के बिधायक सतदेव सिंह को मुख्य अथिति के रूप में उपस्तिथ किया गया था। दोनों नेताओ ने हॉस्पिटल के बदहाली को देखते हुए अपने अपने मद से 25-25 लाख हॉस्पिटल के भवन निर्माण के लिए धोषणा किये थे। व् संसद श्री सिग्रीवाल ने एक तत्काल एम्बुलेंस भी देने का धोषणा किये थे।जिससे लोगो को हॉस्पिटल के निर्माण की उमीद की किरण दिखने लगी।लेकिन आज लगभग 6माह से ज्यादा समय हो चूका है न एम्बुलेंस पहुँचा और न ही हॉस्पिटल निर्माण की राशि उपलब्ध् हुआ। और पिछले ही हप्पते जिला परिषद् ने हॉस्पिटल की जमीन जिसका खाता न0 492 व् सर्वे न0 1800 पर टेक्सी व् बस स्टैंड की टेंडर निकाल दिया।यहाँ के ग्रामीणों का कहना है की नगर परिषद व् स्वास्थ बिभाग के इस कदम से लोगो में काफी रोष है व् हॉस्पिटल के जमीन पर सिर्फ हॉस्पिटल ही बनेगा।अगर यैसा नहीं होगा तो सभी ग्रामीण एकजुट होकर सरकार के खिलाफ आंदोलन करेंगे।

%d bloggers like this: